आन्तरिक_Motivation

जिंदगी मिली है तो जी भर के जियो…..

Nelson Mandela Biography in Hindi | Nelson Mandela the Long Walk to Freedom

Nelson Mandela Biography in Hindi | Nelson Mandela the Long Walk to Freedom

दक्षिण अफ्रीका के महात्मा गाँधी कहे जाने वाले नेल्सन मंडेला एक महान राष्ट्र नायक थे। नेल्सन मंडेला बहुत हद तक महात्मा गांधी की तरह अहिंसक मार्ग के समर्थक थे। उन्होंने गांधी को प्रेरणा स्रोत माना था और उनसे अहिंसा का पाठ सीखा था। आत्मकथा Nelson Mandela the Long Walk to Freedom के नाम की ही तरह मंडेला जी ने स्वतंत्रता के लिए बहुत संघर्ष किये जिसके बारे में हम आगे पढेँगे ।

Nelson Mandela Images
Nelson Mandela Images

Nelson Mandela Biography | नेल्सन मंडेला जीवन परिचय-

जन्म-18 जुलाई 1918 केप प्रांत, दक्षिण अफ़्रीका
पूरा नाम- नेल्सन रोलीह्लला मंडेला
राष्ट्रीयता- दक्षिण अफ़्रीकी
राजनीतिक दल-
अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस
जीवन संगी-
1.एवलिन नटोको मेस
(वि 1944–1957; तलाक)
2.विनी मदिकिज़ेला
(वि 1958–1996; तलाक़)
3.ग्राशा मैचल
(वि 1998–2013; मृत्युपर्यंत)
बच्चे-1.मेडिका थेमबेकल मंडेला 2. मैकज़िव मंडेला 3.मैकगाथो लेवानिका मंडेला 4.मैकज़िव मंडेला 5.ज़ेनानी मंडेला 6.ज़िनज़िस्वा मंडेला
धर्म –ईसाई
मृत्यु-
5 दिसम्बर 2013 (उम्र 95)
ह्यूटन, जोहान्सबर्ग, दक्षिण अफ़्रीका
Nelson Mandela

नेल्सन मंडेला : प्रारम्भिक जीवन (Nelson Mandela: Early life)-

मंडेला का जन्म 18 जुलाई 1918 को म्वेज़ो, ईस्टर्न केप, दक्षिण अफ़्रीका संघ में गेडला हेनरी म्फ़ाकेनिस्वा और उनकी तीसरी पत्नी नेक्यूफी नोसकेनी के यहाँ हुआ था। वे अपनी माँ नोसकेनी की प्रथम और पिता की सभी संतानों में 13 भाइयों में तीसरे थे। मंडेला के पिता हेनरी म्वेजो कस्बे के जनजातीय सरदार थे। स्थानीय भाषा में सरदार के बेटे को मंडेला कहते थे, जिससे उन्हें अपना उपनाम मिला।

उनके पिता ने इन्हें ‘रोलिह्लाला’ प्रथम नाम दिया था जिसका खोज़ा में अर्थ “उपद्रवी” होता है। उनकी माता मेथोडिस्ट थी। मंडेला ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा क्लार्कबेरी मिशनरी स्कूल से पूरी की। उसके बाद की स्कूली शिक्षा मेथोडिस्ट मिशनरी स्कूल से ली। मंडेला जब 12 वर्ष के थे तभी उनके पिता की मृत्यु हो गयी ।

वैवाहिक जीवन (Married Life)-

मंडेला के तीन शादियाँ कीं जिन से उनकी छह संतानें हुई। उनके परिवार में 17 पोते-पोती थे। अक्टूबर 1944 को उन्होंने अपने मित्र व सहयोगी वॉल्टर सिसुलू की बहन इवलिन मेस से शादी की। 1961 में मंडेला पर देशद्रोह का मुकदमा चलाया गया परन्तु उन्हें अदालत ने निर्दोष पाया। इसी मुकदमे के दौरान उनकी मुलाकात अपनी दूसरी पत्नी नोमजामो विनी मेडीकिजाला से हुई। 1998 में अपने 80वें जन्मदिन पर उन्होंने ग्रेस मेकल से विवाह किया।

राजनितिक जीवन (Political Life)-

नेल्सन मंडेला का स्वतंत्र अफ्रीका को अपनी राजनीति देने में जितना योगदान रहा उतना ही विश्व को शांति का पाठ पढ़ाने में भी रहा । 27 साल जेल में गुजारकर भी दक्षिण अफ्रीका को रंगभेद से मुक्ति दिलाने और नस्लभेद-रहित एक स्वतंत्र सरकार देने के प्रयास उन्होंने छोड़े नहीं।

वह उनका एक राजनीतिक प्रयास था और साथ ही सामाजिक भी क्योंकि दक्षिण अफ्रीका या कहीं भी नस्लभेद जितना बड़ा राजनीतिक मुद्दा था, इससे कहीं बड़ा यह एक सामाजिक मुद्दा था ।अश्वेत लोगों की राजनीति में भूमिका नगण्य थी, उनके राजनीतिक अधिकार नगण्य थे और इसके साथ ही सामाजिक जीवन में मुख्य धारा से उन्हें बाहर कर दिया गया था ।उनके अधिकार अछूतों की तरह थे ।

नेल्सन मंडेला ने अस्पृश्यता की इस संवेदना को महसूस करते हुए राजनीतिक जीवन की शुरुआत की। राजनीतिक और सामजिक जीवन में महात्मा गांधी और नेल्सन मंडेला में कई समानताएं थीं । दक्षिण अफ्रीका दोनों की सामाजिक और राजनीतिक चेतना को जगाने वाला साबित हुआ हालांकि मूल रूप से अफ्रीका के होने के कारण मंडेला का कार्यस्थल भी अफ्रीका ही था।

इसके साथ ही ‘नस्लभेद विरोध’ और ‘वकालत’ नेल्सन मंडेला और महात्मा गांधी में एक और बड़ी समानता थी । दोनों ने ही अहिंसा के सिद्धांतों के साथ अपने देश की राजनीतिक और सामाजिक व्यवस्था को दुरुस्त करने का जो अदम्य साहस दिखाया |

वह शायद इतिहास में अपनी तरह का अकेला वाकया हो. हालांकि यहां भी बीच में नेल्सन मंडेला ने अहिंसा के सिद्धांतों के खिलाफ हिंसात्मक ‘गुरिल्ला युद्ध’ अपनाया लेकिन इस युद्ध में किसी भी जान के नुकसान का पूरी तरह ध्यान रखा जाता था.

इस तरह अहिंसा और शांति के संदेश के साथ अपने देश को एक न्यायसंगत सामाजिक-राजनीतिक व्यवस्था देने के लिए नेल्सन मंडेला ने अपना आधा जीवन दे दिया लेकिन अधीर नहीं हुए। 1993 में स्वतंत्रता और समानता के लिए उनके संघर्ष की गूंज का असर ही था कि उन्हें नोबेल शांति पुरस्कार से नवाजा गया और इसके साथ ही 1994 में वे दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति बन गए ।

Nelson Mandela the Long Walk to Freedom | Nelson Mandela Biography-

लॉन्ग वॉक टू फ़्रीडम दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला द्वारा लिखित आत्मकथा है, और पहली बार लिटिल ब्राउन एंड कंपनी द्वारा 1994 में प्रकाशित की गई थी। पुस्तक में उनके प्रारंभिक जीवन, उम्र, शिक्षा और 27 साल की जेल का विवरण है ।

पुरस्कार एवं सम्मान (Awards and Honors)

2004 में जोहनसबर्ग में स्थित सैंडटन स्क्वायर शॉपिंग सेंटर में मंडेला की मूर्ति स्थापित की गयी और सेंटर का नाम बदलकर नेल्सन मंडेला स्क्वायर रख दिया गया। मंडेला को विश्व के विभिन्न देशों और संस्थाओं द्वारा 250 से भी अधिक सम्मान और पुरस्कार प्रदान किए गए हैं ।

1993 में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति फ़्रेडरिक विलेम डी क्लार्क के साथ संयुक्त रूप से नोबेल शांति पुरस्कार,
प्रेसीडेंट मैडल ऑफ़ फ़्रीडम, ऑर्डर ऑफ़ लेनिन, भारत रत्न, निशान-ए–पाकिस्तान,गाँधी शांति पुरस्कार आदि अनेकों पुरस्कारऔर सम्मान प्राप्त किये ।

Nelson Mandela Bharat Ratna-

नेल्सन मंडेला जी के रंगभेद के खिलाफ अभियान के कारण भारत सरकार ने 1990 में उन्हें भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया। नेल्सन मंडेला भारत रत्न पाने वाले पहले विदेशी थे ।

Nelson Mandela Quotes | Nelson Mandela Education Quote-

आप किसी काम में तभी सफल हो सकते हैं जब आप उस पर गर्व करें।

शिक्षा दुनिया का सबसे शक्तिशाली हथियार है, जिससे आप दुनिया को बदल सकते हो।

एक विजेता सपने देखने वाला होता है। जो कभी भी अपने लक्ष्य को छोड़ता नहीं है, बल्कि उसे पूरा करता है।

यह आपका चुनाव है कि आप अपनी आशाओं को देखते हैं या अपने डर को।

मैं जातिवाद से नफरत करता हूँ, किसी भी देश के विकास में यह सबसे बड़ी बाधा है।

यदि आप किसी व्यक्ति से उस भाषा में बात करते हैं जो वो समझता है तो बात उसके दिमाग में जाती है। लेकिन यदि आप उससे उसकी भाषा में बात करते हैं तो बात सीधे उसके दिल तक जाती है।

सबसे कठिन चीज़ समाज का बदलाव नहीं है, बल्कि खुद का बदलाव है।

जब हम अपने स्वयं के भय से मुक्त हो जाते हैं तब हमारी उपस्थिति स्वतः ही दूसरों को भय से मुक्त कर देती है।

कठिनाइयाँ कुछ लोगो को तोड़ती हैं लेकिन कुछ लोगों को बनाती हैं।

साहसी लोग शांति के लिए क्षमा करने से भी नहीं घबराते हैं।

मैं कभी असफल नहीं होता। मैं या तो जीतता हूं या फिर सीखता हूं।

बदले में कुछ भी उम्मीद किए बिना दूसरों की मदद करने के लिए समय और ऊर्जा देने से बड़ा कोई उपहार नहीं हो सकता है।

गरीबी कोई दुर्घटना नहीं है। गुलामी और रंगभेद की तरह यह भी मानव निर्मित है और इसे मानव के कार्यों द्वारा ही हटाया जा सकता है।

जब तक काम खत्म ना हो जाये उसे करना असंभव लगता है।

जब पानी खौलना शुरू होता है, तो आंच बंद कर देना बेवकूफी है।

नेल्सन मंडेला से सम्बन्धित रोचक बातें (Interesting facts about Nelson Mandela) –

  1. नेल्सन मंडेला दक्षिण अफ्रीका के प्रथम अश्वेत राष्ट्रपति थे।
  2. रंगभेद के खिलाफ लड़ाई के चलते उन्हें जेल में 27 साल बिताने पड़े थे ।
  3. नेल्सन मंडेला भारत रत्न पाने वाले पहले विदेशी थे ।
  4. उनके जन्मदिन पर संयुक्त राष्ट्र नेल्सन मंडेला अंतरराष्ट्रीय दिवस के रूप में 18 जुलाई को हर साल मनाती है ।
  5. Nelson Mandela the Long Walk to Freedom में मंडेला जी के 27 साल की जेल का विवरण है ।

Nelson Mandela Class 10 Extra Questions

1. What promise does Mandela make in the beginning of opening of his oath-taking speech? | मंडेला अपने शपथ ग्रहण भाषण की शुरुआत में क्या वादा करते हैं?

मंडेला सभी अंतरराष्ट्रीय नेताओं (International Leaders) और मेहमानों ( Guests) को धन्यवाद देते हैं क्योंकि वे इसे न्याय की खुशी और जीत का अवसर बताते हैं। उन्होंने वादा किया कि देश फिर से एक दूसरे के उत्पीड़न (Oppression) का अनुभव नहीं करेगा।

2.What freedom meant to Mandela in childhood? | बचपन में मंडेला के लिए क्या थी आजादी का मतलब?

बचपन (Childhood) में मंडेला के लिए स्वतंत्रता (Freedom) का अर्थ काफी सीमित (Limited) था, उन्होंने इसे खेतों में दौड़ने, साफ धारा में तैरने, भोजन भूनने और धीमी गति से चलने वाले बैलों की पीठ पर सवार होने को स्वतंत्रता माना।

3.Why did inauguration ceremony take place in the amphiteatre formed by the Union Building in Pretoria? | प्रिटोरिया में यूनियन बिल्डिंग द्वारा बनाए गए एम्फीटिएटर में उद्घाटन समारोह क्यों हुआ?

यह दक्षिण अफ्रीका में शपथ लेने वाली पहली लोकतांत्रिक (Democratic), गैर-नस्लीय (Non-Racial) सरकार थी। इस समारोह में दुनिया भर के 140 से अधिक देशों के गणमान्य व्यक्तियों (Dignitaries) और दक्षिण अफ्रीका के हजारों लोगों ने दिन को यादगार ( Memorable) बनाने के लिए भाग लिया। तो, यह प्रिटोरिया में यूनियन बिल्डिंग द्वारा गठित एम्फीटिएटर में हुआ।

4.What are the ideals which Mandela set for the future of South Africa in his swearing- in ceremony? | मंडेला ने अपने शपथ ग्रहण समारोह में दक्षिण अफ्रीका के भविष्य के लिए कौन से आदर्श निर्धारित किए हैं?

मंडेला ने अपने शपथ ग्रहण समारोह ( Swearing-in ceremony) में सभी लोगों को गरीबी (Pverty), अभाव(Deprivation),पीड़ा (Suffering), लिंग(Gender) और अन्य भेदभाव (Other discrimination) से मुक्त (Liberate) करने पर जोर दिया।

5.What did Mandela think for oppressor and oppressed? | मंडेला उत्पीड़कों और उत्पीड़ितों के लिए क्या सोचते थे?

मंडेला हमेशा सोचते थे कि उत्पीड़क और उत्पीड़ित (Oppressor and oppressed) दोनों अपनी मानवता (humanity) से वंचित (Deprived) हैं। उत्पीड़क(Oppressor) घृणा का कैदी (Prisoner of hatred) है जबकि उत्पीड़ित (Oppressed) को मानवता पर कोई भरोसा नहीं है इसलिए दोनों को मुक्त करने की आवश्यकता है।

6.What do you understand by Apartheid’? | रंगभेद’ से आप क्या समझते हैं ?

रंगभेद (Apartheid)एक राजनीतिक व्यवस्था (political system) है जो लोगों को उनकी जाति (Race)के अनुसार विभाजित (divides)करती है। इस व्यवस्था में दक्षिण अफ्रीका में काले रंग के लोग (black coloured people) माता-पिता, पुत्र और पति आदि होने के अपने व्यक्तिगत (personal) और सामाजिक (Social) दायित्वों (obligations)का निर्वहन करने के लिए भी स्वतंत्र नहीं थे।

7.Describe the effect of the policy of apartheid on the people of South Africa. | दक्षिण अफ्रीका के लोगों पर रंगभेद की नीति के प्रभाव का वर्णन कीजिए।

रं गभेद की नीति (policy of apartheid) को दक्षिण अफ्रीका के लोगों के लिए भाग्यशाली (fortunate) नहीं माना जा सकता था। इसने देश और लोगों में दूरी और गहरा घाव (distamce and a deep wound) पैदा किया। ओलिवर टैम्बो, वाल्टर सिसुलु, युसूफ दादू, ब्रैम फिशर आदि जैसे कई महान पुरुष क्रूरता और उत्पीड़न के कारण (due to brutality and oppression)पैदा हुए थे। वे महान चरित्र के पुरुष थे

8.How is courage related to the brave man according to the author of the lesson? | पाठ के लेखक के अनुसार साहस का बहादुर आदमी से क्या संबंध है?

लेखक का मानना ​​है कि साहस (courage)भय का अभाव (absence of fear) नहीं है, बल्कि उस पर विजय है। बहादुर (brave man) वह नहीं है जिसे किसी भी तरह का डर नहीं लगता, बल्कि वह है जो इसे जीतने का साहस रखता है।

9.Could everyone fulfil the obligations personal or social in South Africa? | क्या दक्षिण अफ्रीका में हर कोई व्यक्तिगत या सामाजिक दायित्वों को पूरा कर सकता है?

नहीं, हर कोई त्वचा के रंग (colour of the skin) के कारण अपने दायित्वों (obligations)को पूरा करने के लिए स्वतंत्र नहीं था। यदि किसी व्यक्ति ने अपने दायित्वों को पूरा करने की कोशिश की, तो उन्हें विद्रोही (rebellion)होने के लिए दंडित (punish)और अलग-थलग कर दिया गया।

10.What did Mandela realise about his brothers and sisters? | मंडेला ने अपने भाइयों और बहनों के बारे में क्या महसूस किया?

मंडेला ने महसूस (Mandela realised) किया कि उनके भाई-बहन अपने देश में अपने रंग के कारण स्वतंत्र नहीं थे। उनके समाज (society)में सभी की स्वतंत्रता पर अंकुश (curtailed)लगा दिया गया था। वह अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस में शामिल हुए और आजादी के लिए संघर्ष किया।

11.Why was Nelson Mandela changed into a bold man? | नेल्सन मंडेला एक साहसी व्यक्ति में क्यों बदल गए?

नेल्सन मंडेला के एक साहसी व्यक्ति में बदलने का मुख्य कारण अपने देश और अपने देशवासियों के लिए स्वतंत्रता की इच्छा। वह गरिमा के साथ जीवन जीना चाहता था क्योंकि वह सीमित स्वतंत्रता का आनंद नहीं ले सकता था।

FAQ –

1.नेल्सन मंडेला के जीवन से हमें क्या संदेश मिलता है ?

अगर हम सच्चाई के साथ है तो हम कुछ भी कर सकते हैं, हम अकेले ही 100 के बराबर है।

2.नेल्सन मंडेला की आत्मकथा का नाम क्या है?

Nelson Mandela the Long Walk to Freedom

3.नेल्सन मंडेला दिवस कब मनाया जाता है? (Nelson Mandela Day)

18 जुलाई को प्रति वर्ष Nelson Mandela Day मनाया जाता है।

4.नेल्सन मंडेला की मृत्यु कब हुई थी? (Nelson Mandela Death)

नेल्सन मंडेला की मृत्यु 5 दिसम्बर 2013 को 95 वर्ष की अवस्था में ह्यूटन, जोहान्सबर्ग, दक्षिण अफ़्रीका नामक स्थान पर हुई थी ।

5.नेल्सन मंडेला कितने वर्ष जेल रहे?

रंगभेद के खिलाफ लड़ाई के चलते उन्हें जेल में 27 साल बिताने पड़े थे ।

[ratings]

से भी पढ़ें:

स्वामी विवेकानन्द की जीवनी

जीवन को बदलने वाले प्रेरक विचार

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.